Ganga Dussehra in Mathura

Mathura में गंगा-दशहरा के पर्व पर वृंदावन के अलग-अलग घाटों पर श्रद्धालुओं ने लगाई यमुना में डुबकी

मथुरा : गंगा-दशहरा के पर्व पर वृंदावन के अलग-अलग घाटों पर श्रद्धालुओं ने यमुना में डुबकी लगाकर पुण्य प्राप्त किया। इस दौरान मथुरा के विश्राम घाट, जुगल घाट, राधारानी घाट पर बड़ी संख्या में लोग स्नान के लिए पहुंचे। मथुरा के मंदिरों में भी धार्मिक आयोजन हुए। भक्तों ने मंदिरों में दर्शन के बाद दान पुण्य किया। 

इस मौके पर गंगा-दशहरा का पर्व पुण्य तीर्थ विश्राम घाट पर विविध धार्मिक कार्यक्रमों के साथ मनाया गया। यह पर्व जल के महत्व को बताता है। एक मान्यता के अनुसार इसी दिन गंगा मां धरती पर उतरी थीं। ज्योतिषाचार्य आचार्य श्याम दत्त चतुर्वेदी ने बताया कि गंगा-दशहरा के दिन गंगा नदी में स्नान करने, ध्यान लगाने से मनुष्य को सभी पापों से मुक्ति मिलती है। 

एक धार्मिक मान्यता के अनुसार गंगा नाम के स्मरण मात्र से व्यक्ति के पाप मिट जाते हैं। हिंदू धर्म में इस नदी को सबसे पवित्र नदी माना गया और मां कहकर पुकारा जाता है। उन्होंने कहा कि इस दिन सुबह स्नान करने से पूर्व जल में गंगाजल की कुछ बूंद मिलाएं, इसके बाद मां गंगा का स्मरण करते हुए स्नान करें, फिर स्वच्छ वस्त्र धारण कर पूजा प्रारंभ करें। 

उन्होंने बताया कि गंगा-दशहरा पर भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा करनी चाहिए, पूजा के बाद घर में भी गंगाजल का छिड़काव करें, इसके बाद जरूरतमंद लोगों को दान करें।

Live TV

Breaking News


Loading ...