Color and Gulal showered fiercely in the

प्रयागराज में तीसरे दिन भी ठठेरी बाजार में जमकर बरसा रंग और गुलाल

प्रयागराज (उत्तर प्रदेश) : ठठेरी बाजार में होली की परंपरा निराली है। बाजार के बाहर दुकानें भी खुली रहती हैं और लोग खरीदारी भी करते हैं। इस बाजार के दोनों ओर बैरिकेडिंग करके रास्ता बंद कर दिया जाता है। इस बार भी ऐसा ही किया गया। ऐसा इसलिए कि मार्केट के बाहर के लोग इससे प्रभावित न हों। जिसे रंग खेलना था, वही यहां आ सका। यानी स्वेच्छा से रंग खेलने के शौकीनों को ही रंगाें में सराबोर किया गया। सुबह 10 बजे से यहां होली खेलने का क्रम शुरू हुआ जो दोपहर बाद तक चलता रहा।  प्रयागराज में तीसरे दिन भी खास इलाके में होली खेलने की परंपरा रही है। 

इसी परंपरा को इस बार भी कायम राखते हुए पुराने शहर के ठठेरी बाजार में होली के तीसरे दिन यानी आज बुधवार को जमकर होली खेली गई। सीमित दायरे में ही होली खेली जाती रही। ठठेरी बाजार में दिनभर रंगों की वर्षा होती रही। एक-दूसरे को रंग व गुलाल लगाकर हर आयुवर्ग के लोगों ने मस्ती की । ठठेरी बाजार की गली बर्तन के खरीदारी के लिए प्रसिद्ध है। हर कोई लाल, गुलाबी, हरा और बैगनी रंग में रंगा था। कोई छत पर पिचकारी से रंग डाल रहा था तो कोई गुब्बारे से दूसरे पर वार करके भाग रहा था।

Live TV

Breaking News


Loading ...