prevent corona infection in Lakhanpur

जिलाधीश ने लखनपुर में कोरोना संक्रमण को रोकने के प्रबंधों का लिया जायजा

लखनपुर : केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में कोरोना के फिर बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रशासन ने मुख्य प्रवेश द्वार लखनपुर में आने वाले अन्य राज्यों के यात्रियों की जांच को यकीनी बनाने के लिए वहां किए गए प्रबंधों को मजबूत बनाने के प्रयास फिर शुरू कर दिए हैं। इसी के चलते रविवार को कठुआ जिलाधीश राहुल यादव, एन.एच.एम. के निर्देशक यासीन चौधरी सहित तमाम प्रशासनिक अधिकारियों ने लखनपुर का दौरा कर वहां पर मौजूदा प्रबंधों का स्थानीय अधिकारियों के साथ बैठक कर समीक्षा की। डी.सी. राहुल यादव ने चैक पोस्ट लखनपुर कोविड-19 के के चलते वहां तैनात अधिकारियों को एवं कर्मियों को अतिरिक्त सतर्कता बरतने और भविष्य में वायरस का प्रकोप और फैलने की आशंका को देखते हुए तैयार रहने की आवश्यकता पर जोर दिया। 

उन्होंने देश में कोविड-19 मामलों में लगातार हो रही बढ़ौतरी को देखते हुए अब और सतर्क रहने के निर्देश दिए। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए उपायुक्त ने चिकित्सा अधिकारियों को सभी एहतियाती उपाय करने और खासकर पंजाब, महाराष्ट्र, गुजरात और अन्य राज्यों से आने वाले यात्रियों के आर.टी.पी.सी.आर. परीक्षण को सुनिश्चित करने के लिए कहा। साथ ही लखनपुर सुविधा केंद्र में स्थापित, कंट्रोल रूम, टैस्टिंग लैब, ट्रक और बस यार्ड और अन्य काऊंटरों का दौरा किया। बैठक में पूरे लखनपुर सुविधा केंद्र में उच्च स्तर की स्वच्छता बनाए रखने के लिए डस्टबिन की संख्या बढ़ाने और क्षेत्र के समय-समय पर सफाई करने का लखनपुर म्यूनिसिपल कमेटी को आदेश किया गया। पत्रकारों को संबोधित करते डी.सी. राहुल यादव ने बताया कि दिन-प्रतिदिन कोरोना वायरस के मामले के सामने आने के बाद उन्होंने लखनपुर का दौरा किया है। 

उन्होंने बताया कि बसों में आने वाले यात्रियों के यहां पर रैपिड टैस्ट लगातार हो रहे हैं। कठुआ जिला में आने वाले लोगों के टैस्ट किए जा रहे हैं और लखनपुर में अतिरिक्त काऊंटर बढ़ाने के लिए उन्होंने सी.एम.ओ. को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सुबह के समय यहां पर काफी  भीड़ होती है। यह सुनिश्चित किया जाएगा कि कम से कम समय टैस्ट कराने में यात्रियों का लगे इसलिए अतिरिक्त काऊंटर बनाए जा रहे हैं। उन्होंने लोगों और यात्रियों से फिर अपील की कोरोना महामारी को देखते हुए लोगों को जागरूक होना होगा और खुद सोशल डिस्टैंसिंग का पालन करना होगा। बिना मास्क के लोग घरों से बाहर न निकलें अपना व अपने परिवार का ध्यान रखें। बैठक में संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।