China

चीन ने अफ्रीका के लिए "कर्ज का जाल" नहीं बनाया है

26 नवंबर को चीनी राज्य परिषद के प्रेस कार्यालय ने न्यूज ब्रीफिंग आयोजित कर《नये युग में चीन-अफ़्रीका सहयोग》श्वेत पत्र का परिचय दिया। चीनी विदेश मंत्रालय के संबंधित प्रधान ने संवाददाता से कहा कि अफ्रीका के लिए तथाकथित "ऋण जाल" बनाने का चीन का दावा न तो तथ्यात्मक है और न ही तार्किक है। कोविड-19 महामारी के प्रकोप के बाद चीन अफ्रीकी देशों के कर्ज के बोझ को कम करने का समर्थन करता है, और सबसे गरीब देशों के ऋण चुकौती को निलंबित करने के लिए जी20 की पहल को सक्रिय रूप से लागू करता है। यह ऋण राहत की सबसे बड़ी राशि के साथ जी20 सदस्य है।

चीनी विदेश मंत्री के सहायक वू च्यांगहाओ ने कहा कि तथाकथित “ऋण जाल” के कथन में ऐसी तर्क समस्या होती है। यह नहीं कहा जा सकता है कि पश्चिमी देशों द्वारा विकासशील देशों को प्रदान किए गए ऋण को "विकास सहायता" कहा जाता है, जबकि चीन द्वारा प्रदान किए गए ऋण को "ऋण जाल" कहा जाता है। अभी तक किसी विकासशील देश ने यह कभी नहीं कहा कि चीन ने उन के लिये ऋण जाल बनाया है। ऋण जाल की कहानी केवल पश्चिमी देशों की सरकारों व उनकी मीडिया द्वारा बनाया गयी है।
(साभार- चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग)

Live TV

-->

Loading ...