Lucknow Uttar Pradesh

UP शेल्टर होम में 5 लड़कियों के भागने के बाद 8 पर मामला दर्ज, लापरवाही के लगे आरोप

लखनऊ: लखनऊ के मोतीनगर इलाके में एक शेल्टर होम की एक शिक्षिका सहित 8 कर्मचारियों के खिलाफ 5 लड़कियों के फरार होने के बाद मामला दर्ज किया गया है। राजकीय बाल गृह के सहायक अधीक्षक मिथिलेश पाल ने कहा, ‘‘लड़कियां रविवार को डाइनिंग हॉल के बेसिन और खिड़की का सहारा लेकर इमारत की छत तक पहुंचने के बाद भाग निकलीं।’’

शेल्टर होम से भागे लोगों में हरदोई और अमरोहा की 17 साल की 2 लड़कियां, उन्नाव की 15 साल की 1 लड़की और सुल्तानपुर और सीतापुर की 16 साल की 2 लड़कियां शामिल हैं। पाल ने कहा कि घटना के समय कला एवं शिल्प शिक्षिका मीना देवी, कक्षा चार की कर्मचारी शिखा भट्टाचार्य और जमील, निजी महिला सुरक्षा गार्ड सबीना और कविता, चपरासी विवेक जायसवाल और एक होमगार्ड अमित ड्यूटी पर थे।

पाल ने कहा, ‘‘जांच के दौरान सामने आया कि मीना, शिखा, सबीना और कविता परिसर में मौजूद थीं, जबकि विवेक और जमील इमारत के बाहरी हिस्से में गेट पर थे।’’ उन्होंने कहा कि होमगार्ड अमित गार्ड रूम में मौजूद था जो कि सबसे ऊपरी मंजिल पर है और डाइनिंग हॉल की छत के ठीक सामने है। CCTV फुटेज में पाया गया कि लड़कियां डाइनिंग हॉल की छत पर चढ़ गईं और यह जगह गार्ड रूम से महज 5-6 फीट की दूरी पर है। इसके आगे पाल ने कहा कि ड्यूटी पर तैनात कर्मचारी लापरवाह हैं और उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। जिला परिवीक्षाधीन अधिकारी, लखनऊ, सुधाकर पांडे ने कहा कि सभी 5 लड़कियों को 25 जून को आश्रय गृह में लाया गया था और उन्हें कोविड प्रोटोकॉल के मद्देनजर एक क्वारंटाइन कक्ष में रखा गया था। वहीं पश्चिम क्षेत्र के अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त राजेश श्रीवास्तव ने कहा, ‘‘हमने शहर और पड़ोसी जिलों के बस/रेलवे स्टेशनों पर लड़कियों का विवरण भेज दिया है। हमने लड़कियों के संबंधित जिलों के पुलिस अधिकारियों को भी सूचित कर दिया है।’’

Live TV

Breaking News


Loading ...