Tarun Chugh , Captain government

कैप्टन सरकार असंवेदनशीलता और अक्षमता के कारण पंजाब के लोगों के जीवन की रक्षा करने में पूरी तरह से विफल रही : तरुण चुघ

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव तरुण चुघ ने केंद्र सरकार द्वारा कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार को पंजाब के लिए भजे गए 800 से ज्यादा वेन्टीलेटरो का सदउपयोग कोरोना महामारी से जूझ रहे पंजाब के लोगो का जीवन बचाने में विफल रहने का दोष लगते हुए कहा कि कोरोना महामारी से पुरे देश में मृत्यु दर सबसे ज्यादा पंजाब की है। चुग ने कैप्टन अमरिंदर सरकार को कोरोना महामारी के दंश से पंजाब की जनता को पीएम केअर फण्ड से भेजे गए वेंटिलेटर का समय पर उपयोग न करने को जघण्य अपराध करार दिया। चुघ ने कहा कि कोरोना मरीजों के प्रति राज्य सरकार का असंवेदनशील रवैया तब उजागर हुआ जब तकनीकी और प्रशिक्षित कर्मचारियों की कमी के कारण बड़ी संख्या में वेंटिलेटर निजी अस्पतालों को सौंपे गए और उनमें से 250 को बिल्कुल भी चालू नहीं किया गया। चुघ ने कहा की तीन मेडिकल कॉलेजों को भेजे गए 300 वेंटिलेटर स्थानीय  प्रशासन की अकुशलता का जिन्दा परमाण है।

चुघ ने कहा केंद्र द्वारा भेजे गए वेंटिलेटरों पर तकनीकी खामिया निकाल कर कैप्टेन सरकार, मंत्री एवम प्रशासकीय अधिकारी अपना पल्ला जाड़ कर पंजाब में कोरोना महामारी के मरीजों के साथ अमानवीय व्यवहार कर रहे है, उन्होंने कहा कि केंद्र ने स्पष्ट किया है कि पंजाब के फरीदकोट में जीजीएस मेडिकल कॉलेज और अस्पताल को आपूर्ति किए गए वेंटिलेटर में कोई खराबी नहीं थी और वेंटिलेटर परिचालन संबंधी मुद्दों के कारण अप्रयुक्त पड़े थे। चुघ ने कहा कि पंजाब के कई अस्पताल और मेडिकल कॉलेज में वेंटीलेटर उपयोगकर्ता मैनुअल और दिशानिर्देशों का पालन नहीं कर रहे हैं और इसके बजाय, वेंटिलेटर के मुद्दे के बिना किसी आधार के गैर-कार्यात्मक बनाया जा रहा है। चुघ ने कहा की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार अपनी असंवेदनशीलता और अक्षमता के कारण पंजाब के लोगों के जीवन की रक्षा करने में पूरी तरह से विफल रही है।

Live TV

-->

Loading ...