new guidelines

Breaking : Himachal Pradesh ने जारी की नई Guidelines, अब 1 जुलाई से खुलेंगे चिंतपूर्णी मंदिर सहित प्रदेश के सभी मंदिर

शिमला: हिमाचल प्रदेश सरकार ने मंगलवार को निर्णय किया कि एक जुलाई से मंदिर फिर से खोले जाएंगे और अंतरराज्यीय बस सेवाएं 50 फीसदी क्षमता के साथ चलेंगी। यह जानकारी एक सरकारी प्रवक्ता ने दी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में कोविड-19 स्थिति की समीक्षा के लिए आयोजित बैठक में यह निर्णय किया गया।

राज्य सरकार की तरफ से जारी एक अधिसूचना में बताया गया कि चिंतपूर्णी मंदिर सहित प्रदेश भर के सभी धार्मिक स्थानों को एक जुलाई से ‘दर्शन’ के लिए खोलने की अनुमति दी गई है जिसमें शर्त है कि वे आवशय़क सामाजिक दूरी के नियमों, नियमित सेनेटाइजेशन और कोविड उपयुक्त व्यवहार का पालन करेंगे।

इसमें कहा गया है, ‘‘कीर्तन, भजन एवं जगराता जैसे कार्यक्रमों की अनुमति नहीं होगी।’’ प्रवक्ता ने बताया कि एक जुलाई से ई-पास की जरूरत को भी खत्म करने का निर्णय किया गया है। इसके अलावा, बैठक में जुलाई से सौ फीसदी क्षमता के साथ सरकारी कार्यालयों को खोलने का निर्णय भी किया गया।

सभी दुकानें सुबह नौ बजे से रात आठ बजे तक खुलेंगी, जबकि रेस्तरां रात दस बजे तक खोले जाने की अनुमति होगी। घर के अंदर कार्यक्रम करने के लिए अंदर की कुल क्षमता का 50 फीसदी और अधिकतम 50 लोगों के एकजुट होने की अनुमति होगी, वहीं घर से बाहर के कार्यक्रम में अधिकतम 100 लोग इकट्ठा हो सकेंगे।

प्रवक्ता ने बताया कि 12वीं कक्षा के परिणाम तीन जुलाई को घोषित किए जाएंगे और इसके लिए कैबिनेट ने अंक गणना के फामरूले को मंजूरी दे दी है। इसके तहत दसवीं कक्षा के अंक का दस फीसदी, 11वीं के परिणाम का 15 फीसदी और प्री-बोर्ड परीक्षाओं के पहले और दूसरे टर्म के 55 फीसदी अंक के आधार पर 12वीं के थ्योरी के अंक की गणना की जाएगी। इसमें पांच फीसदी अंक अंग्रेजी विषय के परिणाम और 15 फीसदी अंक अंदरूनी आकलन के आधार जोड़ा जाएगा।

Live TV

-->

Loading ...