Big Breaking Farmer leaders railway officials

Big Breaking: मुजफ्फरनगर महापंचायत से पहले हंगामा, किसान जत्थबंदियों ने दी नई दिल्ली रेलवे जंक्शन जाम करने की चेतावनी

मुजफ्फरनगरः योगी आदित्यनाथ सरकार ने रविवार को मुजफ्फरनगर में होने वाली किसान महापंचायत के लिए कमर कस ली है। मुजफ्फरनगर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) अभिषेक यादव ने कहा, ‘‘हमें 70,000 लोगों की भीड़ की उम्मीद है। ऐसी भीड़ को प्रबंधित करने के लिए, बलों की तैनाती एक मानक संचालन प्रक्रिया है।’’ बलों में प्रांतीय सशस्त्र कांस्टेबुलेरी (पीएसी) की छह कंपनियां और रैपिड एक्शन फोर्स की दो कंपनियां और 1,200 पुलिसकर्मी शामिल हैं। सूत्रों ने कहा कि अर्धसैनिक बलों की दस कंपनियां और 4,000 पुलिस कर्मियों को भी तैनात किया जा रहा है।

इस बीच प्रदेश नेता सुखदर्शन सिंह नत्त और पंजाब किसान यूनियन ने मुजफ्फरनगर किसान महा पंचायत के प्रबंधन संयुक्त किसान मोर्चा व पंजाब के 32 किसान जत्थबंदियों के सभी नेताओं सूचित कर बताया कि नई दिल्ली देहरादून शताब्दी स्पेशल (02017 देहरादून शताब्दी ट्रेन पिछले डेढ़ घंटे से स्टेशन पर रुकी हुई है) स्पेशल ट्रेन में हजारों किसानों को चढ़ने से रोकने के लिए किसानों के ट्रेन खाली होने तक रेलवे अधिकारी और रेलवे पुलिस ट्रेन चलाने से इनकार कर रही है। 

हालांकि किसानों ने अधिकारियों से कहा है कि वे यात्रियों के लिए सीटें खाली करने के लिए तैयार हैं और खुद मुजफ्फरनगर तक खड़े हो के चले जाएंगे, लेकिन अधिकारी इस बात पर अड़े हैं कि केंद्र सरकार ने उन्हें निर्देश दिया है कि किसानों को मुजफ्फरनगर पहुंचने से रोका जाए। किसान नेताओं ने अधिकारियों को चेतावनी दी है कि अगर कुछ और समय तक ट्रेन नहीं चलाई गई तो वे मजबूर होकर पूरी नई दिल्ली रेलवे जंक्शन को जाम करेंगे, ऐसे में टकराव हो सकता है। इसलिए कृपया नेता और प्रशासक इस मामले को तुरंत अधिकारियों और मीडिया के पास ले जाएं, ताकि रैली में आने वाले किसानों को आने वाली इस तरह की परेशानी से रोका जा सके। 

Live TV

-->

Loading ...