and meat sale during Navratri in Jammu

जम्मू में नवरात्रे के दौरान पशु वध और मांस बिक्री पर लगा प्रतिबंध

जम्मू : जम्मू नगर निगम में शनिवार को निगम की 11वीं जरनल हाऊस मीटिंग आयोजित हुई। अलबत्ता इस बार मीडिया और लोगों को इस बैठक में जाने की अनुमति नहीं दी गई है। इतना ही नहीं इस बार पार्षद सिर्फ एक प्रस्ताव ही इस बैठक में रख सकेंगे और यह प्रस्ताव  जनहित का होना चाहिए। आज जनरल हाऊस की मीटिंग में जम्मू में नवरात्रे दौरान पशु वध, मांस बिक्री पर प्रतिबंध लगाने का प्रस्ताव सहमति से पास किया गया। प्रस्ताव में कहा गया है कि नवरात्रे के दौरान जम्मू नगर निगम के अधीन वाले सलाटर हाऊस (जटका/हलाल) बंद रहेंगे। साथ ही मांस बिक्री  पर प्रतिबंध रहेगा और चिकन, मीट की दुकानें बंद रहेंगी। यह मुद्दा आयुक्त की मंजूरी के साथ हाऊस में उठा था और पार्षदों की मंजूरी के बाद इससे पास किया गया। 

13 अप्रैल से शुरू हो रहे नवरात्र के दौरान शहर में पशु वध और मांस की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने का प्रस्ताव पारित किया है। जम्मू नगर निगम मेयर चंद्र मोहन गुप्ता ने कहा कि प्रस्ताव को 75 पार्षदों ने सर्वसम्मति से जे.एम.सी. हाऊस सत्र में पारित किया है। उन्होंने कहा कि जम्मू मंदिरों का शहर है और बड़ी संख्या में भक्त श्री माता वैष्णो देवी और बावे वाली माता मंदिर में दर्शनों को आते हैं। उन्होंने कहा कि जे.एम.सी.आगामी नवरात्रा त्यौहार के दौरान निर्णय का कड़ाई से कार्यान्वयन सुनिश्चित करेगी। त्यौहार के 9 दिनों के दौरान बूचड़खानों सहित दुकानें बंद रहेंगी। 

गुप्ता ने कहा कि इन दिनों के दौरान जम्मू शहर में कहीं भी बूचड़खानों में पशु वध या मांस की बिक्री नहीं होगी। इसके बाद पार्षदों ने जनहित के मुद्दे उठाए और अपनी-अपनी वार्डों में जिन-जिन विकास कार्यों को करवाए जाने की जरूरत है उन मांगों को उजागर किया। वहीं पार्षद नरोत्तम शर्मा ने आयुष्मान भारत नैशनल हैल्थ प्रोटैक्शन मिशन से जुड़े फार्म का प्रस्ताव पास किया। नरोत्तम शर्मा ने बताया कि उन्होंने डमन डीयू यू.टी. ड्राफ्ट फॉर्म को एक पेज में रखने का प्रस्ताव रखा था, जिससे सर्वसम्माति से पारित किया गया। 

उन्होंने कहा कि जिन लोगों का आयुष्मान फार्म को फिर से भरना था उसके लिए 4 फार्म रखे गए थे जबकि विभिन्न राज्यों में एक ही फॉर्म है तो यू.टी. में 4 पन्नों का फार्म क्यों और इस फॉर्म में उक्त व्यक्ति को 5  विभागों के हस्ताक्षर लाने थे जो एक बहुत लंबी प्रक्रिया थी। उन्होंने कह कि उन्होंने 1 फॉर्म रखने का प्रस्ताव रखा था, जिसमें व्यक्ति को केवल पार्षद के हस्ताक्षर करवाने की जरूरत है और वह आसानी से आयुष्मान कार्ड बना सकता है और इस प्रस्ताव को आज पारित किया गया है। 

Live TV

Breaking News


Loading ...