chandigarh, breaking news punjab, punjab news online, akali dal, bsp

ढाई दशक बाद फिर साथ आए अकाली दल और BSP, रंग लाएगी सांझेदारी

चंडीगढ़- शिरोमणि अकाली दल और बहुजन समाज पार्टी का तकरीबन ढाई दशक के बाद फिर से गठबंधन हुआ है। इस बार यह गठबंधन कितना रंग लायेगा यह 2022 के विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद ही सामने आएगा। इससे पहले 1996 में इन दोनों पार्टियों ने मिलकर लोकसभा चुनाव में सांझेदारी की थी। उस समय बसपा के संस्थापक बाबू कांशीराम और शिरोमणि अकाली दल के वरिष्ठ नेता प्रकाश सिंह बादल ने इस गठजोड़ के बल पर 13 लोकसभा सीटो पर चुनाव लड़ा था और 11 सीटों पर जीत हासिल की थी। उस समय बसपा ने 3 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़कर 100 प्रतिशत नतीजा हासिल किया था जबकि अकाली दल 11 सीटों पर चुनाव लड़ने के बाद 8 पर जीत हासिल कर पाया था। 

इसके बाद ये गठबंधन ज्यादा समय तक नहीं चल सका और शिरोमणि अकाली दल ने भारतीय जनता पार्टी से गठबंधन कर लिया था। अब भाजपा से गठजोड़ टूटने के बाद अकाली ने फिर से बसपा के साथ विधानसभा चुनावों में दांव खेलने की नीति बनाई है।  हालांकि बहुजन समाज पार्टी अपने बल पर कोई खास कमाल पंजाब में नहीं दिखा पाई है पर राज्य की सिख राजनीति में बड़ा किरदार निभाने वाली अकाली दल के साथ मिलकर कुछ बड़ा कर दिखाने की उम्मीद जताई जा रही है। 

Live TV

-->

Loading ...