Dalit leader Rajesh Ram the President

Bihar प्रदेश कांग्रेस के President दलित नेता Rajesh Ram को बनाने पर बनी सहमति

पटना (बिहार) : बिहार प्रदेश कांग्रेस के नए अध्यक्ष दलित नेता राजेश राम को बनाने की सम्भावना है। हालांकि प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कई वरिष्ठ नेताओं ने इस पर आपत्ति जताते हुए कहा कि प्रदेश अध्यक्ष के चयन में सिर्फ जाति नहीं, बल्कि संगठन और एवं नेतृत्व की क्षमता को मापदंड माना जाना चाहिए। सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस दलित समुदाय से आने वाले अपने विधायक राजेश राम को प्रदेश इकाई का नया अध्यक्ष नियुक्त कर सकती है। इसके साथ ही उनके साथ 8 कार्यकारी अध्यक्ष भी बना सकती है। 

बिहार में पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद मदन मोहन झा ने बिहार प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकाश की थी। पार्टी सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी भक्त चरण दास औरंगाबाद जिले की कुटुंबा विधानसभा सीट से विधायक राजेश राम को बिहार प्रदेश कांग्रेस की कमान सौंपने के पक्ष में हैं और जल्द ही इसकी आधिकारिक घोषणा हो सकती है।
पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि राजेश राम के नाम पर लगभग सहमति बन गई है, हालांकि इस पर आखिरी फैसला सोनिया गांधी और राहुल गांधी को करना है।  

सूत्रों का कहना है कि कार्यकारी अध्यक्ष की दौड़ में प्रवीण कुशवाहा, कुमार आशीष, चंदन यादव और कई अन्य नेता शामिल माने जा रहे हैं। कांग्रेस की बिहार इकाई में कई ऐसे नेता भी हैं जो राजेश राम को अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपे जाने के पक्ष में नहीं हैं, हालांकि वे खुलकर बोलने को तैयार नहीं हैं। प्रदेश कांग्रेस कमेटी में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी निभा चुके एक नेता ने कहा, ‘मेरा मानना है कि कोई भी फैसला वरिष्ठ नेताओं के साथ विचार-विमर्श कर के होना चाहिए। प्रदेश अध्यक्ष के लिए सिर्फ जाति मापदंड नहीं होना चाहिए। यह जरूरी है कि प्रदेश अध्यक्ष बनने वाले व्यक्ति में संगठन और नेतृत्व की क्षमता हो और वह बिहार के जातीय एवं क्षेत्रीय संतुलन को समझता हो।’ 

उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी सिर्फ जाति के आधार पर नहीं, बल्कि पार्टी के हित को ध्यान में रखकर निर्णय करेंगे। इस सम्बन्ध में कांग्रेस के एक अन्य वरिष्ठ नेता ने कहा पार्टी नेतृत्व तय करेगा कि कौन अध्यक्ष होगा, लेकिन हमें उम्मीद है कि नया अध्यक्ष तय करने में सिर्फ जाति को ध्यान में नहीं रखा जाएगा क्योंकि कांग्रेस सभी समुदायों और जातियों को साथ लेकर चलने में विश्वास करती है।

Live TV

-->

Loading ...