bird flu

पौंग के बाद अब कुल्लू में बर्ड फ्लू की दस्तक

पौंग जलाशय के बाद अब कुल्लू जिला में बर्ड फ्लू ने दस्तक दे दी है। कुल्लू में मृत पाए गए दो कौओं में बर्ड फ्लू के लक्षण पाए गए हैं। भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद की भोपाल स्थित राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशु रोग संस्थान ने कौओं में बर्ड फ्लू पाए जाने की पुष्टि की है। प्रदेश के पशु पालन विभाग के चिकित्सकों को भोपाल के संस्थान की रिपोर्ट मिली है। कुल्लू स्थित पशु पालन विभाग में उप निदेसक के पद पर कार्यरत डॉ संजीव नड्डा ने दैनिक सवेरा द्वारा संपर्क करने पर मृत कौओं में बर्ड फ्लू पाए जाने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि दो मृत कौओं के सेंपल 27 मार्च को लिए गए थे। 

उन्होंने बताया कि स्थानीय पोल्ट्री के सेंपल की जांच की जा रही है। सेंपल जुटा कर इन्हें जांच के लिए भेजा जाएगा। लोगों को बर्ड फ्लू को लेकर ऐहतियात बरतने को कहा गया है। उल्लेखनीय है कि प्रदेश कांगड़ा जिला के पौंग जलाशय में विगत में विदेशी पक्षियों के मरने की सूचना के बाद इनके सेंपल लिए गए थे। मृत पक्षियों में भी बर्ड फ्लू पाया गया था। बर्ड फ्लू फैलने से प्रदेश में दहशत फैल गई थी। खासतौर पर मांस का सेवन करने वाले लोग इससे खौफ में थे। पोल्ट्री का कारोबार इससे प्रभावित हुआ था। 

पौंग के बाद बीते दिनों कुल्लू में कौओं के मरने की सूचना पशु पालन विभाग को मिली। विभाग ने फौरी तौर पर सेंपल एकत्र कर जांच के लिए जालंधर प्रयोगशाला को भेजा। एक अप्रैल को जालंधर से मृत कौओं के सेंपल भोपाल भेजे गए। भोपाल की प्रयोगशाला ने बीते रोज इनमें बर्ड फ्लू की पुष्टि कर दी है। भोपाल प्रयोगशाला को भेजे 5 और सेंपल की रिपोर्ट का अभी पशुपालन विभाग को इंतजार है। बहरहाल मृत कौओं में बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद पशु पालन विभाग ने मनाली, कुल्ूलू, रायसन, गड़सा, भुंतर तथा पतलीकूहल में विभागीय चिकित्सकों को सेंपल लेने तथा लोगों को जागरूक करने के निर्देश भी दिए हैं।

Live TV

-->

Loading ...