Nerwa Himachal Pradesh

कड़ी मशक्कत के बाद गुम्मा हादसे में लापता दोनों शव हुए बरामद

नेरवा : उफनती टौंस नदी में पानी के तेज बहाव ने डायवर्स एसोसिएशन सुंदरनगर के गोताखोरों की भी खूब कसरत करवाई। एक युवक का शव रविवार शाम तथा दूसरे का सोमवार को टौंस नदी से निकाला गया है। रविवार सुबह 8 बजे से शव को टौंस नदी से बाहर निकालने के लिए रेस्क्यू आपरेशन चलाया गया। करीब 8 घंटों की कड़ी जद्दोजहद के बाद शाम 4 बजे के करीब आखिरकार एक शव को मीनस के समीप टौंस नदी से बाहर निकालने में सफलता मिल पाई। 

मृतक युवक की पहचान दीक्षित पुत्र दिला राम निवासी कोफर न्योल के रूप में हुई है। शव की शिनाख्त मृतक के पिता द्वारा की गई है। रविवार को क्वाणु नामक स्थान के समीप टौंस में एक अन्य शव दिखने की सूचना सामने आई। मगर गोताखोर और प्रशासन की टीम जब तक मौके पर पहुंची तब तक शव टौंस नदी के तीव्र प्रवाह की वजह से बहकर आगे चला गया था। देर शाम बाद अंधेरा होने के चलते प्रशासन और गोताखोरों द्वारा रेस्क्यू ऑपेरशन को सोमवार सुबह तक के लिए स्थगित कर दिया गया था।

सोमवार को दूसरे युवक का शव इच्छाडी बांध से निकाला गया। बताते चले कि राष्ट्रीय राजमार्ग-707 पर गुम्मा के समीप 15 अगस्त को रात करीब 10 बजे सेब से लदी एक पिकअप दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी। पिकअप में सवार एक युवक का शव 16 अगस्त को दुर्घटना स्थल से बरामद किया गया था, जबकि दो लापता युवकों की तलाश में प्रशासन और स्थानीय लोग लगातार जुटे हुए थे। उधर चौपाल के एसडीएम चेत सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि एक युवक के शव को रविवार को ही टौंस नदी से बाहर निकालकर पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया था तथा दूसरे को आज पोस्टमॉर्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया गया है। उन्होंने चौपाल उपमंडल में सेब सीजन के दौरान लगातार पेश आ रही सड़क दुर्घटनाओं को लेकर चिंता व्यक्त करते हुए सभी वाहन चालकों से यातायात के नियमों का पालन करने और वाहन चलाते हुए सावधानियां बरतने का आग्रह किया है।

Live TV

-->

Loading ...