black house

आखिर क्यों इस गांव का हर घर है काला, वजह उड़ा देगी होश

हर कोई चाहता है कि उसका घर सुन्दर दिखें। चाहे वो साफ सफाई की बात हो या फिर घर के कलर की हर चीज में परफेक्ट होना चाहिए। दुनिया भर में हर जाती,राज्य की प्रथाएं अलग होती है। वो प्रथा किसी भी तरीके की हो सकती है। ऐसा ही एक अनोखा मामला आज हम आपके लिए लेकर आये हैं। बता दें एक ऐसा गांव जहां सरे घर काले रंग के हैं। हम बात कर रहे हैं छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में आदिवासी बाहुल्य गांव की जहां शहर में काले रंग से रंगे हुए मकान आसानी से नजर आते हैं। आदिवासी समाज के लोग आज भी अपने घरों की फर्श और दीवारों को काले रंग से रंगते हैं।

जानकारी के मुताबिक ग्रामीण घरों की दीवारों को काली मिट्टी से रंगते हैं। इसके लिए कुछ ग्रामीण पैरावट जलाकर काला रंग तैयार करते हैं, तो कुछ टायर जलाकर भी काला रंग बनाते हैं। बता दें कि पहले काली मिट्टी आसानी से उपलब्ध हो जाती थी, लेकिन काली मिट्टी नहीं मिलने की स्थिति में ऐसा किया जा रहा है।

अघरिया आदिवासी समाज के लोग एकरूपता दर्शाने के लिए घरों को काले रंग से रंगना शुरू कर दिया। यह रंग उस समय से इस्तेमाल किया जा रहा है, जब आदिवासी चकाचौंध से दूर थे। घरों को रंगने के लिए उस वक्त काली मिट्टी या छुई मिट्टी ही हुआ करती थी, और इससे रंगाई कर ली जाती थी। यहां काले रंग से एकरूपता बनी हुई है। इसके साथ ही काले रंग की एक विशेषता ये भी थी कि हर तरह के मौसम में काले रंग की मिट्टी की दीवार आरामदायक होती थी। आदिवासी दीवारों पर कई कलाकृतियां भी बनाते हैं। इसके लिए भी दीवारों पर काला रंग चढ़ाते हैं।

Live TV

Breaking News


Loading ...