After a long time in Moradabad Jail the family

मुरादाबाद के जेल में लम्बे अर्से के बाद परिजन कैदियों को भेज सकेंगे कपड़े

मुरादाबाद : जेल प्रशासन ने जेल में बंद कैदियों को उनके परिजनों को कपड़े भेजने की इजाजत दे दी है। इस दौरान वरिष्ठ जेल अधीक्षक वीरेश राज शर्मा ने बताया कि जेल में बाहर से खाने वाली चीजों के साथ अन्य सभी प्रकार के सामान पर पाबंदी लगा दी थी लेकिन अब पुराने शासनादेश में परिवर्तन कर दिया गया है। 

जेल में अब कैदियों के परिजन कपड़े भेज सकते हैं। बता दें की जेल के कैदियों की उनके रिश्तेदारों से मिलाई बंद होने के कारण पी.सी.ओ. की सुविधा भी प्रदान की जा रही है। कोई भी कैदी महीने में 4 बार अपने परिजनों से फोन पर बात कर सकता है लेकिन कैदी को बात करने से पहले जेल अधिकारियों को अपने घर का नंबर देना होगा। उस नंबर की जांच करने के बाद ही कैदियों को जेल के पी.सी.ओ. से बात करने का मौका प्रदान किया जाता है। 

जेल प्रशासन ने बताया कि जेल से कोरोना महामारी के चलते 7 साल की सजा पाए और अंडर ट्रायल लगभग 300 कैदियों को पेरोल पर छोड़ा गया है।

Live TV

Breaking News


Loading ...