thought_of_the_day
image

वो बुलंदियां भी किस काम की...

इंसानियत उतर जाये...
image

थोड़ी सी मेहरबान हो...

गम छुपाते छुपाते...
image

पेड़ की शाखा पर बैठा पंछी...

अपने पंखों पर भरोसा करता है... 
image

कभी मैं तो कभी वक्त...

एक साल और बीत गया...
image

भीड़ हमेशा उस रस्ते पर चलती है...

आपको आपसे बेहतर और कोई नहीं जानता...
image

देखा करो कभी अपनी मां की आंखों में...

प्यार तुम्हे कोई नहीं दें सकता...
image

अच्छा बनने के...

इंतज़ार मत... 
image

घमंड के अंदर... 

आप गलत... 
image

मुझे देखकर मुंह मत फेरना साहब...

जिसने तुझे अमीर बनाया है...
image

पिता की मौजूदगी सूरज की तरह होती है...

लेकिन अगर न हो तो अंधेरा छा जाता है...
image

भरोसा खुद...

कमज़ोरी बन... 
image

लोग अफ़सोस से कहते है...

सोचता की हम किसके हुए...

Advertisement

Ajab Gajab

Loading...

Advertisement