image

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री बनते ही एक्शन में आ गए और योगी अब तक अपने कामों को करने से थके नहीं हैं। बता दें कि वीआईपी कल्चर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रहार का यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तत्काल प्रभाव से स्वागत किया है। योगी आदित्यनाथ ने पीएम के फैसले को दस दिन पहले ही यूपी में लागू कर दिया। यानी आज से यूपी में लाल और नीली बत्ती लगी गाड़ियां नजर नहीं आएंगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार शाम विभागों की प्रजेंटेशन देखने के लिए बैठक बुलाई थी। सीएम योगी ने प्रजेंटेशन तो देखी ही, साथ ही पीएम मोदी के फैसले पर अमल का फरमान भी जारी कर दिया। सीएम योगी ने पूरे राज्य में 21 अप्रैल से ही लाल और नीली बत्ती के इस्तेमाल पर ब्रेक लगाने का आदेश जारी कर दिया।


मीटिंग में फैसला हुआ कि कोई भी नेता, मंत्री या अधिकारी अपनी गाड़ियों पर लाल और नीली बत्ती नहीं लगाएगा। यानी आज से नेताओं या अधिकारियों की गाड़ियों पर कोई बत्ती नजर नहीं आएगी। अगर आदेश का उल्लंघन किया गया तो ऐसा करने वालों के खिलाफ एक्शन लिया जाएगा। बता दें कि हूटर बजाने का आदेश पहले ही खत्म किया जा चुका है। हालांकि केंद्र सरकार का फैसला आने के बाद राज्य मंत्री स्वाति सिंह समेत कई मंत्रियों ने अपनी गाड़ी से लाल बत्ती पहले ही उतार दी थी। जबकि अधिकारी बदस्तूर अपनी गाड़ियों पर पहले की तरह नीली बत्ती लगाकर चलते रहे। यही नहीं कई अधिकारियों के बच्चे और परिवार के लोग भी नीली बत्ती लगाकर स्कूल पहुंचते रहे, बाजार घूमते रहे।
 

पंजाब और देश - विदेश से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए DainikSavera APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक। Youtube

Web Title: yogis decision in the meeting from today red and blue light bands in up